कुछ मीठा हो जाये: लखनऊ की 8 खास स्वीट डिश

0 503

हम लखनऊ वालों को मीठा खाने का बस बहाना चाहिए | खाने के बाद मीठा पान, सर्दियों की भोर में मक्खन मलाई, गर्मी लगे तो ठंडी कुल्फी, इंडिया मैच जीत जाए तो लड्डू और संडे के नास्ते में जलेबी, हम मीठा खाने की कोई न कोई वजह ढूंढ ही लेते हैं |

आइये आपको बताएं की वो कौन सी 8 स्वीट डिशेस हैं जिनका सबसे बेहतरीन स्वाद आपको लखनऊ में ही मिलेगा –

1. मक्खन मलाई

सर्दियों की सुबह का सबसे खूबसूरत नज़ारा होता हैं मक्खन मलाई | पहले तो लखनऊ भर में घर घर खुम कर मक्खन वाले इसे बेचा करते थे पर अब अगर आपको माखन मलाई का स्वाद लेना हैं तो पुराने शहर की ओर जाना पड़ेगा | मखमल सा मुलायम और लाजवाब स्वाद से भरपूर ये मिष्ठान को बनाने में ओंस की बूंदे भी काम में आती हैं |

2. प्रकाश की कुल्फी फालूदा

कुल्फी फालूदा आपने बहुत खाएं होंगे लेकिन लखनऊ जैसी बात कहीं नहीं होती | वैसे तो गर्मियों में शहर की हर अच्छी मिठाई की दूकान में आपको बेस्ट क्वालिटी कुल्फी फालूदा खाने को मिल जाएगा पर अमीनाबाद स्थित प्रकाश की कुल्फी की बात ही अलग हैं | यहाँ की कुल्फी खाने देसी विदेशी पर्यटक भी आते हैं | यह दुकान प्रख्यात टुंडे कबाबी के काफी नज़दीक हैं |

3. पंडित राजा ठंडाई

गर्मी का मौसम सर चढ़ कर बोल रहा हैं ऐसे में एक गिलास ठंडाई मिल जाये तो क्या कहने | लखनऊ के चौक में स्थित पंडित राजा की मशहूर ठंडाई की दुकान पर लोग शहर के हर कोने से आते हैं | दूध, केसर, बादाम, काजू, पिस्ता, छोटी इलाइची, सौंफ और सफ़ेद मिर्च को मिलकर बनाई जाती हैं हैं लाजवाब ठंडाई | चार पीढ़ियों से चली आ रही इस दुकान का क्रेज आज भी लखनऊ वालों में खूब हैं|

4. रामआश्रय की मलाई गिलोरी

राम-आश्रय की मलाई गिलोरी पुरे शहर में पॉपुलर हैं | आपको बता दें की इस तरह की मलाई गिलोरी आपको भारत में और कहीं मिलेगी भी नहीं | जहाँ बाकी स्थानों में खोया भरकर मलाई गिलोरी बनाई जाती हैं, लखनऊ में मलाई की पतली सी परत में मिश्री और कुछ मेवे भरे जातें हैं | ये इतना सॉफ्ट होता हैं की मुँह में रखते ही गाल जाए | लखनऊ आएं तो हज़रतगंज स्थित राम-आश्रय की मलाई गिलोरी खाना न भूलें |

5. गुलाबी चाय

सुनने में थोड़ा अजीब लगता हैं पर लखनऊ में खास तरह की गुलाबी चाय मिलती हैं | खासकर की ईद के दौरान ये आपको चौक और नक्खास में ज़रूर मिलेगी | इस चाय की विधि मूल रूप से कश्मीरी मानी जाती हैं | इलाइची, केसर और केवड़े की खुसबू से सराबोर इस चाय को बनाने में पूरी रात लग जाती हैं | इसे बलाई (मलाई) और तफ्तान के साथ परोसा जाता हैं | इसका रंग वास्तव में गुलाबी होता हैं और हर किसी को इसका स्वाद एक बार तो लेना ही चाहिए |

6. रेवड़ी

नवाब, कबाब और चिकनकारी के बाद अगर किसी चीज़ के लिए लखनऊ जाना जाता हैं तो वो हैं यहाँ की रेवड़िया | लखनऊ की रेवड़ी पूरी दुनिया में फेमस हैं | खासकर की चारबाग़ रेलवे स्टेशन के पास आपको रेवड़ी की बहुत सी दुकाने दिखेंगी | लखनऊ में मिलने वाली तरह तरह की रेवड़ियों में सबसे ख़ास हैं गुलाब रेवड़ी, इसका स्वाद और खुसबू आपनो इसको खाने के लिए मजबूर कर देंगे |

7. श्री लस्सी कार्नर

गर्मियों के लिए एक और खास पेशकश श्री लस्सी कार्नर की बेजोड़ लस्सी | लखनऊ में बेस्ट लस्सी के लिए आपको चौक स्थित श्री लस्सी कार्नर ही जाना पड़ेगा | एक गिलास ठंडी लस्सी उसके ऊपर मोटी सी मलाई और मेवे , गर्मियों में इससे अच्छा क्या खाया पिया जा सकता हैं | श्री लस्सी कार्नर के छोले भठूरे भी उतने ही फेमस जितनी यहाँ की लस्सी | आप चाहें तो दोनों चीज़ों का आनंद ले |

8. शाही टुकड़ा

खाने के बाद मीठा खाने के शौकीनों के लिए लखनऊ की सबसे बेहतरीन पेशकश हैं शाही टुकड़ा | आपको बता दें की शाही टुकड़े का िज़ात भी लखनऊ में ही हुआ था | यह ब्रेड का मीठा या शाही टोस्ट भी कहलाता हैं | चासनी में डूबी ब्रेड की पीसेज को रेवड़ी के साथ परोसा जाता हैं | दस्तरख्वान और ज़ायका जैसे ऑथेंटिक रेस्टोरेंट्स में आपको सबसे लज़ीज़ शाही टुकड़ा खाने को मिलेगा |

हमें यकीं हैं की हमने मीठे की इतनी बातें कर ली हैं की अब आप खुद को रोक नहीं पाएंगे | आपको बता दें ऊपर लिखी हुई चीज़ों के अलावा जलेबी, गुलाब जामुन, रसगुल्ले, लड्डू और छेना जैसी कई साड़ी और टेस्टी मिठाइयां मिलती हैं लखनऊ में |

Leave A Reply

Your email address will not be published.